Contact Style About

धातु और अधातु में अंतर क्या है?

By ATUL

इस लेख में धातु और अधातु में अंतर क्या है?, और धातु और अधातु के बारे में बहुत ही सरल भाषा में लिखा गया है जो परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही उपयोगी है। Dhatu aur Adhatu Me Antar. Difference between metal and nonmetal in hindi.

धातु किसे कहते हैं?

पारम्परिक विचारधारा के अनुसार:- वे तत्व जो चमकीले कठोर, आघातवर्धनीय ताप तथा विद्युत के सुचालक होते हैं धातु कहलाते हैं।

आधुनिक विचारधारा के अनुसार:- वे तत्व जो सामान्य रासायनिक अभिक्रियाओ में अपने परमाणुओ से एक या एक से अधिक इलेक्ट्रॉन त्यागकर धनायन बनने की प्रवृत्ति रखते हैं धातु कहलाते हैं।

उदाहरण: पोटेशियम, मैग्नीशियम, सोडियम आदि।

रासायनिक अभिक्रिया :-

  • (सोडियम) Na Na+ + 1e त्यागता है।
  • (मैग्नीशियम) Mg Mg++ +2e त्यागता है।

अधातु किसे कहते हैं?

पारम्परिक विचारधारा के अनुसार:- वह तत्व जो भंगुर पारदर्शी, हल्की और उस्मा तथा विद्युत की कुचालक होती हैं अधातु कहलाती है।

आधुनिक विचारधारा के अनुसार:- वह तत्व जो सामान्य रासायनिक अभिक्रियाओ में अपने परमाणुओं से एक या एक से अधिक इलेक्ट्रॉन ग्रहण करके ऋणायन बनने की प्रवृति अपनाते हैं अधातु कहलाते हैं।

उदाहरण: क्लोरीन, ऑक्सीजन आदि।

रासायनिक अभिक्रिया :-

  • (क्लोरीन) Cl +e Cl (1 इलेक्ट्रॉन ग्रहण करते है)
  • (ऑक्सीजन) O +2e O (2 इलेक्ट्रॉन ग्रहण करते है)

Difference between metal and nonmetal in hindi | धातु और अधातु में अंतर क्या है?

धातु और अधातु में निम्नलिखित अंतर इस प्रकार है:

क्रमांकधातु अधातु
1.धातु भारी होता है। अधातु हल्की होती है।
2.धातु का क्थनांक और गलनांक अधिक होता है। अधातु का क्थनांक और गलनांक कम होता है
3.धातुएं पारदर्शी नहीं होती हैं। अधातुएँ पारदर्शी होती हैं।
4.धातु में सामान्य ताप पर ठोस होती हैं ।अधातुएँ एक सामान्य ताप पर ठोस, द्रव, गैस तीनों होती है
5.धातु में चमकदार होती हैं। अधातुएँ में चमकदार नहीं होती हैं किंतु हीरा इसका अपवाद है क्योंकि वह अधातु है फिर भी चमकता है।
6.धातुएं तन्यता का गुण अपनाती हैं तथा अघात वर्ध भी होता है अधातुएँ भंगुर होती हैं
7.धातुएं उष्मा की सुचालक होती हैं।अधातुएँ ऊष्मा की कुचालक होती हैं
8.धातुएं में विद्युत की सुचालक होती हैं।अधातुएँ विद्युत की कुचालक होती हैं।
9.धातुएं अपने परमाणुओं से एक या एक से अधिक इलेक्ट्रॉन त्यागकर धनायन प्रवृत्ति रखती हैं।अधातुएँ में अपने परमाणुओ से एक या एक से अधिक इलेक्ट्रॉन ग्रहण करके ऋनायन प्रवृत्ति रखते हैं।
About the author

coming soon

Leave a Comment