स्वर और व्यंजन में क्या अंतर है?​

Posted on

इस लेख में स्वर और व्यंजन में क्या अंतर है? बहुत ही सरल भाषा में लिखा गया है जो परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही उपयोगी है। Swar Aur Vyanjan Mein Kya Antar Hai.

स्वर और व्यंजन में क्या अंतर है, Swar Aur Vyanjan Mein Kya Antar Hai

स्वर किसे कहते हैं?

जिन वर्णों का उच्चारण स्वतंत्र रूप से होता है और जो व्यंजनों के उच्चारण में सहायक हो वे स्वर कहलाते है। स्वरों की संख्या 11 है। हिंदी वर्णमाला के 11 स्वर – अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ, अं, अ:

व्यंजन किसे कहते है?

स्वर की सहायता से बोले जाने वाले वर्ण व्यंजन कहते है।

स्वर और व्यंजन में क्या अंतर है?​

स्वर और व्यंजन में प्रमुख अंतर निम्नलिखित इस प्रकार है –

क्रमांकस्वरव्यंजन
1.स्वतंत्र रूप से बोले जाने वाले वर्ण स्वर कहलाते है।स्वर की सहायता से बोले जाने वाले वर्ण व्यंजन कहलाते है।
2.मूलतः हिंदी में उच्चारण के आधार पर 10 स्वर होते है।हिंदी में उच्चारण के आधार पर 35 व्यंजन होते है। कुल वर्णों की संख्या 45 होती है।
3.लेखन के आधार पर 52 वर्गों में 13 स्वर होते है।लेखन के आधार पर 35 व्यंजन + 4 संयुक्त व्यंजन होते है।
4.स्वर अपने आप में एक पूरा वर्ण होता है।व्यंजन एक अधूरा वर्ण होता है।
5.स्वर को अग्रेंजी में Vowels कहते है।व्यंजन को अंग्रेजी में Consonants कहते है।

यह भी पढ़ें,

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आप कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे दिए गए Comment Box में जरुर लिखे ।

Tags:

Education / Hindi / hindi grammar / Question Answer

Leave a Comment