Contact Style About

Republic Day: भारत में गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है

भारत में गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है: गणतंत्र दिवस भारत का एक राष्टीय पर्व है। जो प्रति वर्ष ‘26 जनवरी‘ के दिन सम्पूर्ण भारत में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत का सम्पूर्ण संविधान लागू हुआ और उसी दिन भारत एक ‘गणराज्य’ घोषित हुआ।

Republic Day भारत में गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है

गणतंत्र दिवस पर भारत के राष्ट्रपति दिल्ली के लालकिला पर तिरंगा फहराते है । इसके बाद राष्ट्रगान गाया जाता है और 21 तोपों की सलामी दी जाती है। देश के राष्ट्रपति द्वारा वीर चक्र, महावीर चक्र, परमवीर चक्र, अशोक चक्र जैसे राष्ट्रीय सम्मान प्रदान किये जाते है। इसी गणतंत्र दिवस के पावन शुभ अवसर पर बच्चों के लिए भी राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार वितरित किये जाते हैं।

गणतंत्र दिवस को अंग्रेजी (English) में क्या कहते है?

गणतंत्र दिवस को अंग्रेजी (इंग्लिश) में ‘Republic day‘ के कहा जाता है।

गणतन्त्र दिवस का इतिहास

प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत का संविधान सम्पूर्ण भारत मे पूर्ण रूप से लागू हुआ, इसीलिए इस दिन को प्रत्येक भारतवासी पूरे उत्साह जोश और सम्मान के साथ मनाते है। 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के साथ ही भारत को पूर्ण गणराज्य घोषित किया था। यही वजह है कि 26 जनवरी के दिन भारत का गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। वर्ष 1947 में भारत को मिली आजादी के बाद इसे लोकतांत्रिक बनाने के मकसद से देश का संविधान बनाना शुरू किया गया । (2 साल 11 महीने 18 दिन) में बनकर तैयार हुए भारत के संविधान को 26 नवम्बर, 1949 में ही देश की संविधान सभा ने स्वीकार किया। तथा इसके बाद अगले वर्ष 26 जनवरी 1950 को पुरे देशभर में यह संविधान पूर्ण रूप से लागू किया था।

26 जनवरी का महत्व

26 नवम्बर को स्वीकार किए गए भारत के संविधान को लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन ही क्यों चुना गया ? यह सवाल लगभग हर भारतीय के मन में आता होगा। संविधान लागू करने के लिए इस तारीख को चुनने का भी एक खास मकसद था। दरअसल 26 जनवरी 1930 को अंग्रेजो की गुलामी के खिलाफ कांग्रेस ने भारत को पूर्ण स्वतंत्र घोषित किया था। ऐसे मे पूर्ण स्वराज का प्रस्ताव लागू होने की इस तिथि के महत्व को ध्यान में रखते हुए संविधान लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन चुना गया था। 1950 में इसी दिन संविधान लागू करने के साथ ही देश को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया गया और तब से लेकर अब तक हर साल 26 जनवरी को गणतंत दिवस मनाया मनाया जाता है।

26 जनवरी 2024 में भारत का कौन – सा गणतंत्र दिवस मनाया जायेगा?

26 जनवरी 2024 में भारत का 75वाँ गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा।

दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान

दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान भारत का संविधान है। आजादी के साथ ही देश को एक संविधान की जरूरत भी महसूस हुई। ऐसे में इसे बनाने के लिए एक संविधान सभा का गठन हुआ । इस सभा ने 9 दिसम्बर 1946 से संविधान बनाने का काम शुरू किया । भारत के इस संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद थे। जबकि संविधान की ड्राफ्टिंग समिति के अध्यक्ष डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी थे। डा. भीमराव अम्बेडकर जी ने संविधान को बनाने में एक अहम भूमिका निभाई थी, इसीलिए अम्बेडकर जी को ‘भारत का संविधान निर्माता‘ भी कहा जाता है भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है जिसे बनाने में पूरे 2 साल 11 महीने 18 दिन लगे थे। इसके बाद 26 नवम्बर 1949 को संविधान सभा ने अध्यक्ष डॉ राजेन्द्र प्रसाद को देश का संविधान सौंपा था। यही वजह है कि हर साल 26 नवम्बर को ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

भारत का संविधान कितने दिन में बनकर तैयार हुआ?

भारत का पूरा संविधान तैयार करने में 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन लगे थे। यह 26 नवम्बर 1949 को पूरा हुआ था। वही इसे पूरे भारत में 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था। हाथ से लिखे हुए संविधान 24 जनवरी 1950 में 284 सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे। इसमें करीब 15 महिलाएं भी शामिल थी।

पहली बार गणतंत्र दिवस कब मनाया गया?

भारत में पहली बार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1950 को मनाया गया था। इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था और भारत एक गणतंत्र राष्ट्र बन गया था। इसी दिन भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराया था। 26 जनवरी का दिन भारत के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। इस दिन भारत ने एक नए युग की शुरुआत की थी। इस दिन भारत को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी और भारत ने एक लोकतांत्रिक गणराज्य के रूप में अपना नया रूप धारण किया था।

26 जनवरी 2023 को कौन सा गणतंत्र दिवस है?

26 जनवरी 2023 को भारत का 74वां गणतंत्र दिवस मनाया गया। भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था, इसलिए 26 जनवरी 2023 को भारत को स्वतंत्रता प्राप्त हुए 74 वर्ष पूरे हो जाएंगे। इसी दिन भारत के 15वीं राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराया था।

अगर आपको ‘Republic Day: भारत में गणतंत्र दिवस कब और क्यों मनाया जाता है‘ यह पोस्ट पसंद आया हो तो आप कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे दिए गए Comment Box में जरुर लिखे ।

About the author

coming soon

Leave a Comment